Thursday, March 29, 2007

अब लीजिए असली वर्ल्ड कप का मजा!!

टीम इंडिया वर्ल्ड कप से बाहर हो गई तो क्या आप मैच देखना छोड़ देंगे? जी नहीं, ऐसा मत कीजिए। अब हर मैच दूसरे से बढ़िया होगा। क्रिकेट के शौकीनों के लिए अब वाकई दिलचस्प स्थिति है। अब महज भारतीय टीम के चौके-छक्के चाहने वालों के लिए बेशक कुछ न हो लेकिन क्रिकेट के सच्चे प्रेमियों के लिए वाकई बहुत कुछ है। फिर भारतीय टीम नहीं है तो कोई टेंशन भी नहीं है।

क्रिकेट खासकर वन डे क्रिकेट की खूबसूरती उसकी अनिश्चितता में है। यह जितना अनिश्चित होगा, गेम उतना ही दिलचस्प होगा। याद कीजिए वे दर्जनों मैच जिनमें आखिरी समय तक यह पता नहीं लग रहा था कि जीतेगा कौन। याद कीजिए ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका का वह ऐतिहासिक मैच जिसमें 434 का वर्ल्ड स्कोर महज साढ़े तीन घंटे तक ही रहा और कहीं कमजोर माने जाने वाली साउथ अफ्रीकी टीम ने वह मैच कैसे जीत लिया। याद है वह सीरीज जिसमें न्यूजीलैंड ने ऑस्ट्रेलिया के छक्के छुड़ा दिए थे। और इसी वर्ल्ड कप का वह मैच याद कीजिए जिसमें बिल्कुल नई टीम ने पाकिस्तान की धुरंधर टीम को पटकनी दे दी। यही तो है क्रिकेट की शानदार अनिश्चितताएं जिसमें अगले पल के बारे में कोई कुछ नहीं बात सकता। यह उन तमाम दूसरे खेलों से अलग है जहां आप पक्के तौर पर कुछ कह सकते हैं।

इसी वर्ल्ड कप में कई ऐसे नए खिलाड़ी दिखे जिन्होंने अपने खेल से समां बांध दिया। देखने वाले उन्हें देखते रह गए। कई अनजान खिलाड़ी अपनी प्रतिबद्धता से खेल को समृद्ब कर गए। नई टीमों के कई खिलाड़ियों ने शानदार करतब दिखाए। और अब तो बिसात बिछ चुकी है। कई रिकॉर्ड बनेंगे, कई खिलाड़ियों के कारनामे देखने को मिलेंगे और कुछ मैच ऐसे भी होंगे जिनमें आपको दांतों तले उंगली दबानी पड़ सकती है।

तो बस भूल जाइए टीम इंडिया को और आनंद लीजिए इस वर्ल्ड कप के शानदार मैचों का।

Labels: , ,

2 Comments:

At 10:46 PM, Anonymous Tarun said...

iski taaja misaal kal ke south africa aur sri lanka ka match jisme laminga ne lagataar 4 bowls me 4 wicket leke aasani se jit rahi south africi team ke paseena la diya.

 
At 11:03 AM, Anonymous Shuaib said...

पहले तो मुझे क्रिकेट का शौक बिलकुल नहीं - सिर्फ एक अपनी भारती टीम से उम्मीदें थीं - और आपकी बात भी सही है।

 

Post a Comment

<< Home